Ashok-K-Roy-e1430743770609श्री अशोक के रॉय – मंडल के अध्यक्ष

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर से बी.टेक. (ऑनर्स) के साथ कृषि अभियंता तथा भारतीय बीमा संस्थान के फ़ेलो श्री अशोक के रॉय ने 1979 में सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में भारतीय जनरल इंश्योरेंस में कार्यग्रहण किया । जून 2008 में महाप्रबंधक के रूप में जीआईसी आरई में कार्यग्रहण करने से पहले उन्होंने 29 वर्षों तक विभिन्न ओहदों में ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी में अपनी सेवाएँ प्रदान की ।

दिसंबर 2011 में, श्री रॉय ने भारतीय कृषि बीमा कंपनी के कार्यवाहक अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यग्रहण किया । जनवरी 2012 को उन्हें जीआईसी आरई का कार्यवाहक सीएमडी बनाया गया और अप्रैल 2012 में जीआईसी आरई के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में इस पद को संपुष्टि किया गया

श्री रॉय असेट मैनेजमेंट कं. लि. के भी अध्यक्ष हैं । वे अनेक कंपनियों के मंडल में निदेशक भी हैं जिनमें भारतीय जीवन बीमा निगम; इंडियन रजिस्टर ऑफ शिपिंग, ईस्ट एशिया रीइंश्योरेंस कं. लि., केनइंडिया अश्योरेंस कं. लि., एशियन रिइंश्योरेंस कार्पोरेशन और ईसीजीसी ऑफ इंडिया लि. शामिल हैं ।

श्री रॉय टीएसी की तकनीकी उप समिति (अभियांत्रिकी) के सदस्य रहे हैं और कोर इंश्योरेंस साल्यूशन (आईएनएलआईएएस) के विकास में निकटता से जुड़े रहे ।  उन्होंने अग्नि एवं अभियांत्रिकी माड्यूल के विकास के लिए गठित कोर ग्रुप का भी नेतृत्व किया । वे चेंज मैनेजमेंट, वार्ताकार कौशल और कार्पोरेट गवर्नेंस पर अनेक प्रशिक्षण कार्यक्रमों में वक्ता रहे हैं । उन्हें जीआईसी आरई में मा.सं. विकास में अपने विभिन्न पहलों के लिए जाना जाता है । जीआईसी आरई में एक नवोन्मेष केन्द्र की स्थापना एक नवीनतम पहल है ।

 

G-Srinivasan-e1430744038430श्री जी श्रीनिवासन जो कि बी.कॉम, एफआईआईआई, एसीएमए

श्री जी श्रीनिवासन, ने 18 अक्तूबर 2012 से दि न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यग्रहण किया ।

न्यू इंडिया के सीएमडी के रूप में नियुक्ति से पहले, वे यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लि. के सीएमडी थे । उन्होंने दि न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी (टीएनटी) लि., ट्रिनिडाड और टोबेगो के प्रबंध निदेशक तथा दि न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी लि. के महाप्रबंधक के रूप में अपनी सेवाएँ प्रदान की । बीमा उद्योग में उन्हें 33 वर्षों से भी अधिक समय का अनुभव है । वे 28 जुलाई, 2010 से भारतीय जनरल इंश्योरेंस कार्पोरेशन के निदेशक रहे हैं ।  वे न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी (ट्रिनिडाड और टोबेगो) लि., प्रेस्टीज अश्योरेंस पीएलसी, नाइजीरिया और इंडिया इंटरनेशनल इंश्योरेंस पीएलसी, सिंगापूर के निदेशक हैं ।

 

 

A-K-Saxena-e1430744347456डॉ ए के सक्सेना :

डॉ ए के सक्सेना ने 12 जून, 2012 से प्रभावी होते हुए दि ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लि., दिल्ली के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यग्रहण किया । डॉ ए के सक्सेना इससे पहले ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लि. में ही महाप्रबंधक के रूप में तैनात थे ।

डॉ ए के सक्सेना पशु-चिकित्सा विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री और विधि स्नातक डिग्री धारक हैं । वे भारतीय बीमा संस्थान के एसोसिएट सदस्य भी हैं ।

डॉ ए के सक्सेना ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1979 में दि न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी लि. (एनआईए) में अधिकारी के रूप में की थी और उत्तर प्रदेश में न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी लि. के विभिन्न कार्यालयों में विभिन्न लाइन एवं स्टाफ संबंधी उत्तरदायित्वों को पूरा किया, इसके अलावा वे केनइंडिया अश्योरेंस कंपनी लि., नैरोबी में कुछ समय के लिए तैनात थे और फिलिपीन्स के मनीला में भी तैनात थी । वे इंडिया इंटरनेशनल इंश्योरेंस पीटीई, सिंगापूर के निदेशक भी हैं ।

Milind-A-Kharat-e1430744581679श्री मिलिंद खरात :

श्री मिलिंद खरात ने अक्तूबर में यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कं. लि. के अध्यक्ष-सह-प्रबंध-निदेशक के रूप में कार्य ग्रहण किया ।

श्री खरात बॉम्बे विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर हैं ।  वे भारतीय बीमा संस्थान के फ़ेलो भी हैं ।

श्री खरात ने अपने करियर की शुरुआत भारतीय जनरल इंश्योरेंस कार्पोरेशन के 1979 बैच के सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में की और उसके बाद न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी लि. में मंडल प्रबंधक, वरिष्ठ मंडल प्रबंधक, क्षेत्रीय प्रभारी आदि सहित विविध क्षेत्रों में विभिन्न स्तरों पर विभिन्न पदों को धारित किया ।

श्री खरात को अल्प अवधि के लिए दो अंतर्राष्ट्रीय तैनाती – फिजी द्वीप और टोक्यो, जापान में, की गई ।  1995 से 2001 तक फिजी में मुख्य प्रबंधक के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान उत्कृष्ट कार्य-निष्पादन के लिए उन्हें पुरस्कार प्रदान किए गए । उन्होंने फिजी रीइंश्योरेंस कार्पोरेशन के निदेशक के रूप में तथा इंश्योरेंस काउंसिल ऑफ फिजी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया और उन्होंने फिजी के बीमा अधिनियम, 1998 की समीक्षा करने में उल्लेखनीय योगदान दिया और नेशनल रोड सेफ्टी काउंसिल ऑफ फिजी, जो कि फिजी में सड़क संरक्षा के लिए उत्तरदायी निकाय है, के कार्यकारी सदस्य के रूप में अपनी सेवाएँ प्रदान की ।

श्री खरात 2004 से 2007 तक न्यू इंडिया अश्योरेंस कंपनी लि. के जापान के प्रचालनों के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में तैनात किया गया । वे जापान के फारेन नान-लाइफ इंश्योरेंस एसोसिएशन की कार्यकारी समिति के सदस्य और इंडो-जापान मैत्री समारोह 2007 की वित्त समिति के सदस्य थे ।

उन्हें मा.सं., प्रशिक्षण, मेरीन कार्गो, मरीन हल, मोटर और विधि विभागों का व्यापक अनुभव है ।

यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कं. लि. के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में अपनी तैनाती से पहले, उन्होंने भारतीय कृषि बीमा कंपनी लि., नई दिल्ली में सीएमडी थे ।

 

V-Ramasamy-e1430744616316श्री वी रामासामी :

जो कि पेशे से सनदी लेखाकार हैं, ने वर्ष 1975 में सीधी भर्ती अधिकारी के रूप में यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कं. लि. में कार्यग्रहण किया ।  अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने विभिन्न पदों पर कार्य किया और वर्ष 2005 में उन्हें अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक के काडर में पदोन्नत किया गया ।

वे अक्तूबर 2005 से मई 2009 तक नेशनल इंश्योरेंस कं. लि. के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक रहे । अपनी सेवानिवृत्ति के बाद, उन्हें अगस्त माह से तीन वर्षों के लिए बीमा लोकपाल, तमिलनाडु के रूप में नियुक्त किया गया ।

 

Kamlesh-S-Vikamsey-e1430744700787श्री कमलेश शिवजी विकमसे :

जो मुंबई विश्वविद्यालय से बी,कॉम और सनदी लेखाकार हैं, को लेखा एवं वित्त, कराधान तथा कार्पोरेट परामर्शी सेवाओं में 30 वर्षों का अनुभव है । वे यूनाइटेड नेशन्स डेवलपमेंट प्रोग्राम (यूएनडीपी), न्यू यॉर्क की लेखा परीक्षा सलाहकार समिति के सदस्य हैं और साथ ही भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान (आईसीएआई) की अपीलीय प्राधिकरण के सदस्य भी हैं ।  2005-06 के दौरान उन्हें आईसीएआई का अध्यक्ष चुना गया था और 2004-05 के दौरान वे आईसीएआई के उपाध्यक्ष भी थे । वे 1998 से 2007 तक आईसीएआई के केन्द्रीय परिषद के मनोनीत सदस्य रहे हैं । तदुपरांत, वे 2007-09 के दौरान कन्फेडरेशन ऑफ एशियन एंड पैसिफिक एकाउंटेंट्स (सीएपीए) के अध्यक्ष रहे और 2005-07 के दौरान सीएपीए के उप-अध्यक्ष रहे । वे 2005-08 तक इंडरनेशनल फेडरेशन ऑफ एकाउंटेंट्स के मंडल के सदस्य थे । वे 1982 से मे. खिमजी कुंवरजी एंड कं. से जुड़े रहे हैं । संयुक्त राष्ट्रों में गवर्नेंस तथा जिम्मेदारी की व्यापक समीक्षा के लिए गठित विषय-निर्वाचन समिति के सदस्य सहित  उन्होंने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तरों पर विभिन्न परामर्शदात्री तथा विशेषज्ञ समिति के सदस्य के रूप में अपनी सेवाएँ प्रदान की ।

 

Mona-Bhide-e1430744889882सुश्री मोना भिडे :

जो मुंबई विश्वविद्यालय से बी.कॉम, एलएल.बी, नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी, स्कूल ऑफ लॉ, शिकागो से एलएल. एम. हैं, दवे एंड गिरीश एंड कं. जो अंतर्राष्ट्रीय वित्त एवं कार्पोरेट विधि पर ध्यान-केन्द्रित करने वाली फर्म है, की प्रबंध निदेशक हैं । वे विभिन्न बैंकों और वित्तीय संस्थानों की सलाहकार भी हैं ।

वे महाराष्ट्र और गोवा बार काउंसिल, बॉम्बे बार एसोसिएशन, इंटरनेशनल स्वैप्स एंड डेरीवेटिव्स एसोसिएशन, इंटरनेशनल बार एसोसिएशन, न्यू यॉर्क स्टेट बार एसोसिएशन, इंटर पैसिफिक बार एसोसिएशन और एशिया पेसिफिक लोन मार्केट एसोसिएशन की सदस्य हैं ।

उन्होंने निवेश बैंकिंग, विधिक पेशे का संघर्ष एवं वैश्वीकरण के क्षेत्र में अमेरीकी बार फाउंडेशन और साथ ही अंतर्राष्ट्रीय विधि फर्म, सेडविक, डीटर्ट मोरान तथा अर्नाल्ड में भी कार्य किया है ।

वे परियोजना वित्त एवं कार्पोरेट, विलयन एवं अधिग्रहण संबंधी लेन-देन, पुन:संरचना तथा ऋण-शोधन प्रेक्टिशनर तथा ग्लोबल काउन्सेल 3000 में भारत में कार्पोरेट लेन-देन प्रैक्टिशनर के लिए अत्यंत संस्तुत वकीलों में एक हैं ।

उन्हें लीगल 500 द्वारा बैंकिंग एवं वित्त, कार्पोरेट, विलयन एवं अधिग्रहण तथा विवाद समाधान में अग्रणी विशेषज्ञ माना गया है और एशिया लॉ प्रोफाइल्स द्वारा अग्रणी वकील माना गया है ।

 

Warendra-Sinha-e1430745021436श्री वरेन्द्र सिन्हा  - प्रबंध निदेशक एवं सीईओ :

श्री वरेन्द्र सिन्हा –– हंसराज कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व-छात्र हैं और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली से स्नातकोत्तर हैं । उन्होंने 1982 में ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लि. में कार्यग्रहण किया और शाखा, मंडल और क्षेत्रीय प्रभारी के रूप में देश के विभिन्न भागों में 2008 तक कार्य किया । इस बीच वे केनइंडिया अश्योरेंस कंपनी लि., नैरोबी, कीन्या में 4 वर्षों के लिए प्रतिनियुक्ति पर थे । वर्ष 2008 में उप महाप्रबंधक के रूप में पदोन्नति पर उन्हें विपणन, प्रचार और बीपीआर देखने के लिए नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लि. के कोलकाता स्थित प्रधान कार्यालय भेजा गया ।

श्री सिन्हा ने अक्तूबर, 2012 में महाप्रबंधक के रूप में जीआईसी आरई में कार्यग्रहण किया और उसके बाद प्रबंध निदेशक के रूप में जीआईसी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड का नेतृत्व करने हेतु उनका चयन किया गया ।

भारतीय बीमा संस्थान के एसोसिएट होने के साथ-साथ, श्री सिन्हा को खेलना, संगीत सुनना, पढ़ना और यात्रा करना पसंद है । श्री सिन्हा ने सुदृढ़ सम्प्रेषण, सिद्ध टीम प्रबंधन क्षमताओं और अनुकरणीय ग्राहक संबंध के साथ-साथ उत्कृष्ट नेतृत्व कौशल का भी प्रदर्शन किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*
Website